जैवपूर्वेक्षणग्रुप

इस ग्रुप की स्थापना तत्कालीनरसायनविज्ञान विभाग और जीवमितीएवं पोषण विभाग को मिला कर की गई| जैवस्त्रोतों से अणुओंकी खोज कर के उन्हें कृषि,स्वास्थ्यऔर पर्यावरण जैसे क्षेत्रों में उपयोग में लाने की दृष्टि से प्रयास जारी है।

अनुसंधान के विषय इस प्रकार है।

  • आकर्षक एवं विकर्षकसेमिओकेमिकल्स
  • प्राकृतिकऔर सिंथेटिकअणुओं परआधारितनूतन उपचार के विकासके लिएचयापचयऔरन्यूरोलॉजिकल विकारोंकी क्रियाविधि और कैंसर को समझना
  • चयापचयीऔर न्यूरोलॉजिकल विकारोंके लिए न्यूट्रास्युटिकल्स का विकास