कृषि रसायन औरजैवउर्वरकोंका मूल्यांकन

कृषि रसायनों मेंरासायनिकउर्वरक, घास-नाशक, कवक-नाशकऔर कीटनाशकोंसहित विविध रसायनों का समावेश होता है। हर सालखाद्य उत्पादनकी क्षमता कालगभग30%हिस्सा कीड़े,कीट,पौधारोगजनकों,घास, चूहें,पक्षीऔर भंडारण की वजह सेख़राब हो जाता हैं। कृषि रसायनइनबाह्य कारकोंसे फसलों की रक्षा कर एक अच्छी फसल सुनिश्चित करता है। जैवउर्वरकमिट्टी के स्वास्थ्यमें सुधार औरपौधों की वृद्धिको बढ़ावा देने केद्वाराफसलों की उत्पादकताबढ़ाने के लिए एककिफायती औरपर्यावरण केअनुकूल तरीका प्रदान करते हैं।

संस्थान में उर्वरक, पौध विकास प्रमोटरों, घास-नाशक, कवक-नाशक,कीटनाशकऔर जैवउर्वरकोंकी प्रभावोत्पादकता की जांचकरने के लिएगेहूंऔर सोयाबीनफसलों पर क्षेत्रीय परीक्षणके संचालन के लिएतकनीकीविशेषज्ञता औरक्षेत्रकी सुविधाएंविकसित हैं।संस्थानके दिशा निर्देशोंके अनुसार निजी कंपनियो को गेहूंऔर सोयाबीनपर अपने उत्पादोंके परीक्षण के लिएहरसालतकनीकी सेवाएंप्रदान की जा रही है।

अधिक जानकारी के लिए कृपया संपर्क करें-

समन्वयक,
आनुवंशिकीऔरपादप प्रजनन,
अघारकरअनुसंधान संस्थान, पुणे
टेलीफ़ोन: ०२०-२५३२५०४०
फैक्स: ०२०-२५६५१५४२